घर में चोरी की शिकायत पर चौकी इंचार्ज ने कहा FIR कराओगे तो नहीं होगी कार्रवाई, मुंशी निकला एक कदम आगे…

पुलिस के पैंतरें
चोरी के बाद कमरें में बिखरा सामान।

आरयू ब्‍यूरो, 

लखनऊ। अपराधियों को पकड़ने की जगह अपराध छिपाने में माहिर राजधानी पुलिस का एक बार फिर शर्मनाक चेहरा सामने आया है। मड़ियांव पुलिस इलाके के एक मकान का ताला तोड़कर 72 हजार नकद और करीब डेढ़ लाख के गहने चोरी होने के बाद एफआइआर लिखकर चोरों तक पहुंचने की जगह पीड़ित को ही दो दिनों से कोतवाली और चौकी का चक्‍कर लगवा रही है। केशव नगर चौकी इंचार्ज जहां मुकदमा लिखवाने पर कार्रवाई नहीं होने की बात कर रहें हैं, तो वहीं थाने का मुंशी ने तहरीर देने पर चोरी होने के लिए पीड़ित को ही घटना के लिए जिम्‍मेदार दिया।

ये है पूरा मामला-

सुबोध पांडेय पत्‍नी व दो बच्‍चों के साथ केशवनगर के एक मकान में रहते हैं। पेशे से भवन निर्माण की ठेकेदारी करने वाले सुबोध ने बताया कि वह दो मार्च को पत्‍नी व बच्‍चों को लेकर हरदोई के पाली में अपने ससुराल गए थे। इसी बीच चार मार्च की रात चोर मकान का ताला तोड़कर अंदर घुस गए और दो अन्‍य कमरों के तालों समेत आलमारी का लॉकर और बक्‍से तोड़ने के साथ ही पूरे घर को खंगाल डाला। इस दौरान चोर घर में रखा 72 हजार रुपए नकद, सोने की चेन, अंगूठी समेत चांदी के बिस्‍कुट, बर्तन व सिक्‍कों समेत अन्‍य कीमती सामान लेकर भाग निकले। पांच मार्च की सुबह पड़ोसी रामनरेश तिवारी ने घर का ताला टूटा देख उसको घटना की जानकारी दी। हरदोई से लौटने के साथ ही उसने घटना की जानकारी कंट्रोल रूम को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने छानबीन कर मड़ियांव कोतवाली में तहरीर देने की बात कहते हुए लौट गयी।

यह भी पढ़ें- अब गोमतीनगर में महिला की हत्‍या, प्रदर्शन पर 12 दिन बाद पुलिस ने बरामद की सड़ी-गली लाश

चोरों के झटके के बाद पुलिस ने इस तरह दिखाएं पैतरें-

सुबोध ने बताया कि चोरी के बाद वह मुकदमा लिखवाने मड़ियांव कोतवाली पहुंचे तो वहां मौजूद मुंशी ने तहरीर लेने के साथ ही चोरी के पीछे उसी की गलती बताना शुरू कर दिया। मुंशी का कहना था कि तुम्‍हें मकान को ताला बंदकर नहीं जाना चाहिए था। ताला बंद देख चोरों ने घर को निशाना बनाया। खरी-खोटी सुनाने के बाद मुंशी ने कहा कि घर जाओ एक घंटे बाद चौकी इंचार्ज मौके जाकर विवेचना करेंगे और फिर मुकदमा लिखा जाएगा। शाम तक किसी के नहीं पहुंचने वह दोबारा मुंशी से जाकर मिला तो मुंशी ने केशव नगर चौकी पर भेज दिया। चौकी पहुंचने पर एक सिपाही ने रात तक आने की बात कहते हुए उन्‍हें वहां से भी लौटा दिया।

यह भी पढ़ें- शर्मनाक: राजधानी में पुलिस की दहशत और वसूली के चलते युवक ने फांसी लगाकर दे दी जान, हंगामा

तीन टीमें लगा रखी हैं…

रात भर के इंतजार के बाद भी पुलिस ने मौके पर नहीं पहुंचने पर आज सुबह सुबोध एक बार फिर मड़ियांव कोतवाली पहुंचे और मुंशी को फिर से पूरी बात बताई। जिसके बाद मुंशी ने सुबोध की तहरीर वापस करते हुए केशव नगर चौकी पर वापस भेज दिया। सुबोध ने चौकी पर दोबार पहुंचने पर भी उन्‍हें निराशा ही हाथ लगी। सुबोध ने बताया कि वहां मौजूद चौकी इंचार्ज अभिषेक कुमार ने कहा कि उन्‍होंने चोरों को पकड़ने के लिए तीन टीमें लगा रखी है, लेकिन मुकदमा दर्ज कराने पर आगे पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करेगी। जिसके बाद वह थकहार दोपहर दो बजे घर लौट गए।

हफ्ते भर में छह मकानों में हुई चोरी

चोरी की घटना के बाद पीड़ित के साथ ही इलाके के लोगों में भी रोष व्‍याप्‍त है। लोगों का कहना है कि पिछले करीब एक हफ्ते में चोर छह मकानों को अपना निशाना बना चुकें हैं। उसके बाद भी पुलिस न गश्‍त करती है और न हीं मुकदमा दर्ज। पीड़ितों ने इस बारे में पुलिस के आला अधिकारियों से शिकायत करने की बात कही है।

यह भी पढ़ें- वीडियो में देखिए मित्र पुलिस की करतूत, आधी रात होटल में मचाया तांडव, सो रहे कपल्‍स से लेकर मैनेजर तक को नहीं बख्‍शा

चोरी के बाद फौरन मुकदमा लिखा जाना चाहिए। पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा लिखवाने के साथ ही लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों से जवाब तलब किया जाएगा।  हरेंद्र कुमार, एएसपी टीजी

LEAVE A REPLY