SC से ‘पद्मावत’ को हरी झंडी, करणी सेना-राजपूत समाज ने आदेश को बताया भावनाओं के ठेस पहुंचाने वाला

'पद्मावत' को हरी झंडी

आरयू वेब टीम। 

विवादों में फसी संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ को अब सभी राज्यों में रिलीज करने के लिए आज सुप्रीम कोर्ट की ओर से हरी झंड़ी मिल गई है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों को आदेश दिया है कि फिल्म को सर्टिफिकेट मिलने के बाद रिलीज होने दिया जाए। वहीं कोर्ट के आदेश को करणी सेना और राजपूत समाज ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला बताया है। साथ ही आगे भी इसका विरोध जारी रखने की बात कही।

फिल्‍म को कई राज्यों में बैन किए जाने के बाद ‘पद्मावत’ के मेकर्स ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। बता दें कि गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा फिल्म को सेंसर बोर्ड से क्लीयर होने के बावजूद भी बैन कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें- कई राज्‍यों में बैन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पद्मावत के निर्माता

मामले में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने इन सभी राज्यों को आदेश दिया है कि वो फिल्म को रिलीज होने से नहीं रोक सकते। उच्चतम न्यायालय का कहना है कि ‘पद्मावत’ को सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिल चुका है, ऐसे में राज्य इसे बैन नहीं कर सकते। कोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश में कहा है कि सभी राज्य कानून और व्यवस्था बनाए रखने और पूरे भारत में फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए बाध्य हैं।

सुप्रीम कोर्ट में प्रोड्यूर्स की तरफ से वकील हरीश साल्वे ने कहा कि, ‘यदि राज्य फिल्म पर प्रतिबंध लगा रहे हैं, तो यह संघीय ढांचें को नष्ट कर रहा है। यह एक गंभीर मामला है। अगर किसी को कोई समस्या है, तो वह राहत के लिए अपीलीय ट्रिब्यूनल से संपर्क कर सकता है। साथ ही हरीश साल्वे ने यह भी कहा कि वो केंद्र सरकार से अनुरोध करते हैं कि राज्य सरकारों को प्रभावी कदम और समाधान देने के लिए निर्देश दें।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी सुनाई दे रहे विरोध के स्‍वर

वहीं सुप्रीम कोर्ट की तरफ से हरी झंडी के बाद राजपूत समाज के राष्ट्रीय नेता कंवर सूरज पाल अमू ने कहा कि आज सुप्रीम कोर्ट ने लाखों-करोड़ों लोगों, हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है, जो कोर्ट का सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारा संघर्ष जारी रहेगा चाहे मुझे फांसी लगा दो। ये फिल्म रिलीज होगी तो देश टूटेगा।

दूसरी ओर करनी सेना ने मामला राष्‍ट्रपति के पास ले जाने की बात कही। साथ ही उज्जैन में करनी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा है कि पद्मावत फ़िल्म की रिलीज के दिन 25 तारीख को जनता का कर्फ़्यू लगेगा। किसी का फ़िल्म देखने का मन है तो मेरा मानना है कि फ़िल्म नही देखे। कल मुम्बई में चर्चा की जाएगी। जिसके बाद फ़िल्म के प्रदर्शन पर बड़ी घोषणा की जा सकती है।

यह भी पढ़ें- पद्मावती पर रोक लगाने वाली याचिका को SC ने किया खारिज, बयानबाजी करने वाले नेताओं को लगायी फटकार

LEAVE A REPLY