गलत तरीके से ग्रीन टी पीकर नुकसान तो नहीं कर रहे अपना

ग्रीन टी

आरयू हेल्‍थ डेस्‍क।

शोधों में ग्रीन टी पीने के कई फायदे जानने के बाद अब लोगों का रूझान तेजी से इसकी तरफ बढ़ रहा है। सेहत के प्रति संजीदा लोग सिर्फ इसके लाभ जान लेने के बाद ही इसके मुरीद हो गए है। यहां तक तो सब ठीक है, लेकिन क्‍या आप यह जानते हैं? इसको पीने का भी सही तरीका आना जरुरी है। कही अंजाने में आप भी तो गलत तरीके से ग्रीन टी का सेवन करने के बाद इसके फायदे से वंचित होकर अपना नुकसान तो नहीं कर रहे।

आइयें जानते हैं ग्रीन टी पीने का सही तरीका-

ग्रीन टी खरीदते समय आप इस बात का ध्‍यान रखें की वह अपने नेचुरल फार्म में हो। ज्‍यादा प्रिजर्वेटिव मिली ग्रीन टी कभी भी सही से फायदा नहीं करती। आप इसकी खुली हुई पत्तियां भी इस्‍तेमाल कर सकते है। यह सेहत पर काफी अच्छा असर दिखाती हैं।

ग्रीन टी हमेशा गर्म ही पिएं, क्‍योंकि ठंडी होने पर इसके कई गुण खत्‍म हो चुके होते हैं। इसके अलावा कभी भी छह महीना पुरानी ग्रीन टी का इस्‍तेमाल न करें। पुरानी होने के बाद यह अपना गुणकारी असर लगभग खो चुकी होती हैं।

इसके साथ ही फ्लेवर वाली ग्रीन टी से भी परहेज करें। यह ज्‍यादा फायदा नहीं दिखाती। हां अगर सिर्फ टेस्‍ट के लिए आप फ्लेवर पसंद कर रहे तो बात और है।

ग्रीन टी

अगर नहीं जानते तो अब इसके कुछ फायदे भी जान लीजिए-

कई रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों ने पाया कि ग्रीन टी स्‍वास्‍थ्‍य की काफी अच्‍छी दोस्‍त है। इसमें पाया जाना वाला एंटीऑक्‍सीडेंट शरीर को तेजी से बूस्‍ट करता है।

खाना खाने के बाद उसको पीने से गैस की प्रॉब्‍लम नहीं रह जाती।

ग्रीन टी पीने से शरीर में मौजूद जहरीले पदार्थ कम होने लगते है।

इसके लगातार सेवन से वजन भी नियंत्रित होता हैं। जबकि पाचन तंत्र भी उत्‍तेजित होकर बेहतर ढ़ग से खाना पचाने लगता है। यह सीने में जलन से भी आराम देती है।

LEAVE A REPLY