योगीराज में अब फ्री में नहीं मिलेगी जेएम पार्क में एंट्री, एलडीए ने शुरू की तैयारी!

जेएम पार्क
छुट्टी के दिन जेएम पार्क के बाहर रहता है कुछ इस तरह का नजारा।

आरयू एक्‍सक्‍लूसिव

लखनऊ। देश के सबसे बड़े पार्कों में शुमार जनेश्‍वर मिश्र (जेएम) पार्क में जल्‍द ही आपको एंट्री करने के लिए टिकट देना पड़ सकता है। कंगाली के दौर से गुजर रहा लखनऊ विकास प्राधिकरण अपनी आय का जरिया बढ़ाने के लिए अब एंट्री टिकट लगाने की तैयारी कर रहा है। कहा जा रहा है कि हाल ही में एक बैठक में इसका प्रस्‍ताव रखने के बाद एलडीए को इसके लिए शासन स्‍तर से भी लगभग हरी झंडी दिखाई जा चुकी है। हालांकि अभी इस बारे में एलडीए के अफसर और इंजीनियर खुलकर बोलने से बच रहे हैं।

3400 से लेकर 8400 तक लोग पार्क में आते हैं हर दिन

टिकट लगाने से पहले एलडीए ने आमदनी का अंदाजा भी लगा लिया है। पार्क के सात गेटों में से एंट्री के लिए फिलहाल खोले गए गेट नंबर एक, दो, चार और सात से आने वाले लोगों की हाल ही में सुरक्षाकर्मियों के द्वारा गिनती भी कराई गई है। पार्क से जुड़ें एक अधिकारी के अनुसार गिनती में सोमवार को चारों गेटों से लगभग 4400, मंगलवार को 3800, बुधवार को 4300, गुरुवार को 3400, शुक्रवार को 3500 शनिवार को 4100 और सबसे ज्‍यादा रविवार को करीब 8400 लोगों के पार्क में पहुंचने की बात सामने आई है। हालांकि टिकट लगने के बाद इस संख्‍या में कमी आना तय माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें- RU इम्‍पैक्‍ट: LDA ने आधी रात में लगाया जनेश्‍वर पार्क में राष्‍ट्रीय ध्‍वज

पांच साल तक के बच्‍चों और सीनियर सिटीजन पर नहीं लगेगा टिकट

सूत्र के अनुसार एलडीए ने पांच साल तक के बच्‍चों के अलावा 60 साल के ऊपर वाले बुजुर्गों को राहत देते हुए उनकी पार्क में एंट्री फ्री रखने का प्रस्‍ताव बनाया है। इसके अलावा मार्निंग और इवनिंग वार्कर के लिए लोहिया पार्क की तर्ज पर मासिक पास की व्‍यवस्‍था रहेगी। जबकि आम वीजिटर से एलडीए दस रुपए एंट्री फीस के रूप में चार्ज करेगा।

खर्च किए 400 करोड़ लेकिन टिकट घर बनाना ही भूले

पार्क पर करीब चार सौ करोड़ रुपए खर्च करने के बाद भी एलडीए के इंजीनियर और अफसर टिकट घर बनाना ही भूल गए। सूत्र बताते हैं कि इसके चलते भी अब तक पार्क में एंट्री टिकट नहीं लगाया जा सका है। हालांकि टिकट व्‍यवस्‍था का मूड बना चुका एलडीए टिकट घर बनाने के साथ ही उसकी वैकल्पिक व्‍यवस्‍था पर भी विचार कर रहा है।

यह भी पढ़ें- जांच के लिए जनेश्‍वर पार्क पहुंचे मंत्री ने कहा सिर्फ कमीशन के लिए LDA ने खर्च कर दिए 400 करोड़

पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था लोकार्पण

बता दें कि 376 एकड़ में फैले इस पार्क को पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्‍ट कहा जाता रहा है। पांच अगस्‍त 2014 को खुद अखिलेश यादव ने ही इस पार्क का लोकार्पण भी किया था। उसके बाद से ही यहां जनता की एंट्री और पार्किंग फ्री चल रही थी। हालांकि पार्क की पार्किंग से लगातार वाहन चोरी होने का मुद्दा राजधानी अपडेट के उठाने के बाद कुछ महीने पहले ही एलडीए ने पार्किंग नंबर एक में टोकन व्‍यवस्‍था शुरू कराई है।

यह भी पढ़ें- खबर का असर, अब नहीं होंगे जनेश्वर पार्क की पार्किंग से वाहन चोरी, लगेगा टिकट

शासन से अप्रूवल मिलने की बात पर एलडीए वीसी प्रभु एन सिंह का कहना है कि अभी इस बारे में कुछ कहना जल्‍दबाजी होगी। अप्रूवल मिलते ही मीडिया को सारी चीजें बता दी जाएंगी।

LEAVE A REPLY