दमघोंटू बनी लखनऊ की हवा में नहीं हुआ सुधार, सांस लेना हो रहा दुश्‍वार

दमघोंटू बनी लखनऊ की हवा

आरयू संवाददाता, लखनऊ। राजधानी लखनऊ की हवा निरंतर दमघोंटू बनी हुई है। वहीं ट्रैफिक ने समस्या को और बढ़ा दिया है। गुरुवार को राजधानी का औसत एक्यूआई 260 रहा। आज दिन में एक बजे करीब 300 के पार था। तालकटोरा की हवा में कोई सुधार नहीं हुआ। यहां औसत एक्यूआई 360 और अधिकतम 440 दर्ज किया गया। प्रदूषण मानकों के तहत यह बेहद गंभीर स्थिति है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और अनुसंधान प्रणाली (एसएएफएआर) की गुरुवार की रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी की वायु गुणवत्ता ‘अत्यंत खराब श्रेणी में है। इसके कारण लोगों को सांस लेने में परेशानी के साथ आंखों में जलन भी हो रही है। सिर में दर्द का भी कारण वायु प्रदूषण बन रहा है। खासकर बुजुर्गों, गंभीर रूप से बीमार लोगों और बच्चों के लिए यह बेहद खतरनाक है। इसके अलावा, अस्थमा के मरीजों को बहुत दिक्कत पेश आ रही है।

यह भी पढ़ें- लखनऊ की हवा हुई खराब, UP में दस सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में बुलंदशहर नंबर वन

वहीं बात करें आज की स्थिति की तो सबसे ज्यादा राजाजीपुरम, ऐशबाग, तालकटोरा आदि इलाकों की हवा प्रदूषित रही। यहां औसत एक्यूआई 360 और अधिकतम 448 दर्ज किया गया। इसके बाद अलीगंज के आस-पास के इलाकों की हवा जहरीली रही। यहां औसत एक्यूआई 323 और अधिकतम 379 दर्ज किया गया। लालबाग, हजरतगंज, कैसरबाग, नजरबाग, अमीनाबाद की भी हवा खराब रही। यहां का औसत एक्यूआई 316 और अधिकत 384 रहा। गोमतीनगर का एक्यूआई सबसे कम रहा। यहां औसत एक्यूआई 147 और अधिकतम 243 रहा।

गौरतलब है कि पिछले तीन माह में सिर्फ 22 नवम्बर ऐसा दिन रहा है जब राजधानी की हवा सबसे ज्यादा सुधरी रही। इस दिन वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 187 दर्ज किया था। इसके बाद से एक्यूआई 250 के पार ही बना हुआ है।

LEAVE A REPLY