देश में 24 घंटे में सामने आए कोरोना के 30,570 मामले, मौत का आंकड़ा भी बढ़ा

मौत का आंकड़ा भी बढ़ा

आरयू वेब टीम। देश में चार दिनों की राहत के बाद एक फिर कोरोना संक्रमित के आंकड़े डराने लगे हैं। वहीं मरने वालों की संख्या भी बढ़ी है। देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के कुल 30,570 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस संक्रमण की चपेट में आकर 431 लोगों की मौत हुई है। केवल केरल में ही 17,681 नए मामले सामने आए हैं और 208 लोगों की मौत हुई है। एक दिन में कोरोना के 30,570 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,33,47,325 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 3,42,923 रह गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में 431 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,43,928 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 3,42,923 हुई, जो कुल मामलों का 1.03 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 8,164 कमी आई है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.64 प्रतिशत है।

यह भी पढ़ें- फिर बढ़े कोरोना के मामले, 24 घंटे में मिले 27,176 संक्रमित, 284 की लोगों की मौत

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 54,77,01,729 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 15,79,761 नमूनों की जांच बुधवार को की गई। दैनिक संक्रमण दर 1.94 प्रतिशत है, जो पिछले 17 दिन से तीन प्रतिशत से कम बनी है। वहीं, साप्ताहिक संक्रमण दर 1.93 प्रतिशत है, जो पिछले 83 दिन से तीन प्रतिशत से कम है। देश में अभी तक कुल 3,25,60,474, लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत है।

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की कुल 76.57 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

यह भी पढ़ें- देश में पांचवें दिन कोरोना के मामलों में गिरावट, मौत के आंकड़े ने बढ़ाई चिंता

LEAVE A REPLY