मध्य प्रदेश में शिकारियों ने दरोगा, दिवान व सिपाही को किया गोलियों से छलनी, दबिश देने गई थी पुलिस की टीम

काले हिरण के शिकारी
बैठक करते सीएम शिवराज चौहान।

आरयू वेब टीम। मध्य प्रदेश के गुना जिले में बीती रात शिकारियों कानून-व्‍यवस्‍था की धज्जियां उड़ाते हुए दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्‍या कर दी। दरअसल गुना के आरोन इलाके के जंगल में शुक्रवार देर रात पुलिसकर्मी काले हिरण के शिकार मामले में दबिश देने गए थे। यहां शिकारियों ने छिपकर ताबड़तोड़ फायरिंग उन्‍हें गोलियों से छलनी कर दिया।

वहीं इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने आवास पर शनिवार को आपात बैठक बुलाई। जिसमें तीनों पुलिसकर्मियों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा की है।

मिली जानकारी के मुताबिक देर रात पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ लोग काला हिरण का शिकार करने आए हैं, जिसके बाद पुलिस गुना के आरोन इलाके में शिकारियों पर दबिश देने पहुंची और, इसी दौरान शिकारी और पुलिस आमने सामने आ गए। शिकारियों ने पुलिस टीम पर ही हमला बोल दिया और फायर कर दिए। घटना में कुछ अन्‍य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर में हुई अलग-अलग मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने मार गिराए दो आतंकी, जवान घायल

इस हमले में गुना के आरोन थाने के एसआई, हेड कांस्टेबल व सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। गुना के एसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि पुलिस टीम पर शिकारियों ने अचानक से हमला किया जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। मृतकों के नाम सब इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम हैं।

यह भी पढ़ें- जम्‍मू–कश्‍मीर में पुलिस व बीएसएफ पर आतंकी हमला, जवान शहीद, चार घायल

LEAVE A REPLY