करीब 28 साल बाद टेस्ट मैच की मेजबानी करेगा लखनऊ, इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में होगा मैच

इकाना इंटरनेशनल स्टेडियम
इकाना इंटरनेशनल स्टेडियम।

आरयू ब्‍यूरो, लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 28 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद टेस्ट क्रिकेट की वापसी हो रही है। यूपी क्रिकेट एसोसिएशन (यूपीसीए) की पहल पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने लखनऊ के भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम को टेस्ट मैच की मेजबानी सौंपी है। यूपी में सिर्फ ग्रीन पार्क स्टेडियम कानपुर और केडी सिंह ‘बाबू’ स्टेडियम लखनऊ ही ऐसे मैदान रहे हैं जहां क्रिकेट मैच खेला गया है।

मैच शुरू होने के महज दो घंटे पहले सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान के साथ अपना दौरा रद्द करने वाली न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम संयुक्त अरब अमीरात में होने वाले टी-20 विश्व कप के बाद भारत के दौरे पर आएगी और दो टेस्ट मैच खेलेगी। इस सीरीज के पहले टेस्ट मैच की मेजबानी का मौका लखनऊ के भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम को मिला है। दूसरे मैच की मेजबानी बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम को मिली है. इकाना स्टेडियम में 2016 से प्रथम श्रेणी मैचों का आयोजन होता आ रहा है।

साल 2018 में यहां पर भारत और वेस्टइंडीज के बीच टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला गया था। इसके बाद 2020 में भारत व दक्षिण अफ्रीका के बीच एकदिवसीय मैच की मेजबानी इकाना स्टेडियम को सौंपी गई थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण इस सीरीज को को रद्द करना पड़ा था। बीसीसीआइ लखनऊ के इकाना स्टेडियम को बड़े क्रिकेट सेंटर के रूप में देख रहा है। अगले वर्ष आइपीएल में दो नई टीमों को जोड़ा जाएगा। ऐसे में बीसीसीआई की सोच लखनऊ को एक प्रमुख क्रिकेट केन्द्र के रूप में विकसित करने की है।

यह भी पढ़ें- अब अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से जाना जाएगा इकाना स्‍टेडियम, भारत-वेस्‍टेंडीज की टीम पहुंची लखनऊ, देखें तस्‍वीरें

लखनऊ के इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में एक साथ 50-60 हजार दर्शक मैच का मजा उठा सकते हैं। गोमती नदी के तट पर बने इस स्टेडियम में नौ पिच हैं। करीब 70 एकड़ क्षेत्र में फैले इस स्टेडियम में 1000 कार और 5000 टू-व्हीलर पार्किंग की व्यवस्था है। करीब 530 करोड़ रुपए की लागत से तैयार इस स्टेडियम में चार वीआएपी लाउंज हैं। पहले में 232, दूसरे में 228, तीसरे में 144 और चौथे लाउंज में 120 सीटें हैं। टेस्ट मैच के दौरान रोशनी कम होने पर छह फ्लड लाइट्स का भी प्रयोग किया जा सकता है।

उत्तर प्रदेश के क्रिकेट प्रशंसकों के लिए यह बहुत बड़ी खुशखबरी है कि उनके राज्य की राजधानी में लंबे समय बाद टेस्ट क्रिकेट की वापसी हो रही है। आइपीएल में दो टीमें बढ़ने वाली हैं उनमें एक लखनऊ और दूसरी अहमदाबाद की टीम होगी।

यह भी पढ़ें- लखनऊ में ओलंपिक के पदक वीरों पर सम्‍मान के साथ हुई धनवर्षा, मुख्यमंत्री ने की खेल को बढ़ावा देने वाली योजनाओं की घोषणा

LEAVE A REPLY