सावधान! गर्मी से बढ़ रहा हीट स्ट्रोक का खतरा, दिमाग पर भी पड़ता है बुरा असर

हीट स्ट्रोक
फाइल फोटो।

आरयू वेब टीम। बदले मौसम के साथ गर्मी का प्रकोप बढ़ता जा रहा। यूपी समेत देश के अधिकतर हिस्‍सों में तापमान 40 डिग्री के पार पहुंच गया है। तापमान में बढ़ोतरी की वजह से लोगों को तेज गर्म हवाओं का सामना करना पड़ रहा है। इतनी गर्मी होने के बावजूद भी लोगों अपने कामों के लिए घर से बाहर निकलना पड़ता है। जिससे लू लगने या हीट स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। ध्यान नहीं देने पर यह समस्या जानलेवा साबित हो सकती है। इसलिए इनसे खुद को बचाकर रखने के लिए सावधानी बरतते रहना ही बेहतर उपाय है।

वहीं हीट स्ट्रोक की बात करें तो गर्मी के मौसम में होने वाली सबसे आम और गंभीर बीमारी है। इस बीमारी में शरीर का तापमान 10 से 15 मिनट के अंदर 40.0 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक बढ़ जाता है, जिसकी वजह से सिरदर्द, चक्कर आने जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। हीट स्ट्रोक के उपचार में देरी की वजह से पीड़ित व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

इतना ही नहीं बढ़ते तापमान का असर शरीर के साथ दिमाग पर भी पड़ता है। गर्मी की वजह से दिमाग में असंतुलन पैदा होने की संभावना बढ़ जाती है। इसकी वजह से बोलते समय लड़खड़ाना, बैचेनी, चिड़चिड़ाहट जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। अगर आपको भी ऐसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर अपना इलाज करवाएं।

यह भी पढ़ें- अभी नहीं मिलने वाली राहत, आने वाले दिनों में और कहर बरपाएगी गर्मी

मानसिक स्थिति के साथ शरीर के तापमान का अधिक बढ़ना, शरीर की नमी का कम होना और त्वचा का रूखा होना, जी घबराना,  उल्टी आना, सांसों का तेज चलना और धड़कनों का बढ़ना जैसे लक्षणों पर भी इस मौसम में विशेष ध्यान दें नहीं तो आपको गंभीर समस्या झेलनी पड़ सकती है।

इन बातों का रखें खास ख्याल

– हल्के रंग और हल्के वजन वाले कपड़े पहनें।
– धूप के सीधे संपर्क में आने से बचें। बाहर जाते समय छाता लेकर या टोपी पहनकर जाएं।
– खूब सारा पानी और जूस जैसे नारियल पानी, नींबू पानी पाएं।
– शराब, सॉफ्ट ड्रिंक्स, एनर्जी ड्रिंक्स जैसी चीजों का सेवन करने से बचें।

यह भी पढ़ें- UP: मार्च में ही सितम ढा रही गर्मी, नहीं दिख रहे राहत के आसार, मौसम विशेषज्ञों ने बताई वजह

LEAVE A REPLY