मायावती को लगा झटका, पूर्व कैबिनेट मंत्री व विधायक रामवीर उपाध्‍याय ने बसपा से दिया इस्‍तीफा, बोले, “कांशीराम के सिद्धांतों से भटक गई BSP”

रामवीर उपाध्‍याय

आरयू ब्‍यूरो, लखनऊ। सम्‍मेलन कर ब्राह्मणों को अपने साथ जोड़ने की तैयारियों के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती को यूपी चुनाव से ठीक पहले उनके ही पूर्व कैबिनेट मंत्री ने झटका दिया है। शुक्रवार को बसपा के पूर्व कैबिनेट मंत्री व सादाबाद सीट से वर्तमान विधायक रामवीर उपाध्‍याय ने बसपा की सदस्‍यता से इस्‍तीफा दे दिया है। साथ ही कहा है कि अब बसपा मान्‍यवर कांशीराम के सिद्धांतों से भटक चुकी है।

रामवीर उपाध्‍याय ने आज इस बारे में बसपा सुप्रीमो को पत्र लिखते हुए भी कहा है कि 25 सालों तक बसपा का सक्रिय सदस्‍य रहा और हमेशा आपके आदेश के अनुसार बसपा को नई ऊंचाईयों पर ले जाने के लिए प्रदेश भर में कड़ी मेहनत की। जिसकी वजह से साल 2007 में बसपा की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी, लेकिन सत्‍ता में रहने के बाद भी साल 2009 के लोकसभा चुनाव, साल 2012 के विधानसभा चुनाव, 2014 के लोकसभा, 2017 के विधानसभा चुनाव में उम्‍मीद के अनुसार बसपा के सीट नहीं जीतने के बाद मेरे बार-बार मांग करने पर भी हार की समीक्षा नहीं की गयी।

यह भी पढ़ें- बड़ी खबर: मायावती ने अब मुख्‍तार अंसारी को माफिया बता काटा विधानसभा टिकट, BSP सरकार बनने पर सख्‍त कार्रवाई की भी कही बात

साथ ही कहा है कि मैंने आपको (मायावती) 2019 के लोकसभा में अवगत कराया था कि हम लोग उम्‍मीद के हिसाब से सीट नहीं जीत रहें, क्‍योंकि हमारे पास से कैडर वोट भी खिसक रहा, लेकिन आपने ने मेरे द्वारा बताई सच्‍चाई को नकारते हुए मुझे निलंबित कर दिया था। जिससे मेरा व मेरे समर्थकों की भावनाएं आहत हुईं।

इतना ही नहीं मायावती की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाते हुए रामवीर उपाध्‍याय ने अपने पत्र में यह भी अरो‍प लगाते हुए कहा है कि आज बसपा मान्‍यवर कांशीराम साहब द्वारा बनाए सिंद्धांतों व आदर्शों से भटक चुकी है, इसी वजह से मैं बसपा के से सदस्‍यता से त्‍याग पत्र देता है।

यह भी पढ़ें- मायावती की बड़ी कार्रवाई, बसपा के पूर्व कैबिनेट मंत्री रामवीर उपाध्याय को किया पार्टी से निलंबित, BJP के प्रति नरमी पड़ी भारी

वहीं पूर्व कैबिनेट मंत्री के बसपा छोड़ने के बाद उनके जल्‍द ही भाजपा में शामिल होना का अंदेशा जताया जा रहा है। रामवीर उपाध्‍याय के छोटे भाई पूर्व विधायक मुकुल उपाध्‍याय, बेटे चिरागवीर उपाध्‍याय और पत्‍नी सीमा उपाध्‍याय पहले ही भाजपा ज्‍वाइन कर चुके हैं इसलिए माना जा रहा है कि वे भी भाजपा में ही जाएंगे, हालांकि अभी उन्‍होंने खुद इस बारे में कोई घोषणा नहीं की है।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस व लोकदल के मुस्लिम नेताओं को बसपा में शामिल कर मायावती ने इन विधानसभा सीटों से दिया टिकट

LEAVE A REPLY